Happy Birthday: ‘करमचंद’ टीवी शो से हुई थी पंकज कपूर के अभिनय करियर की शुरुआत, आज कई पुरस्कारों से हो चुके हैं सम्मानित



Post Views
6

पंकज कपूरImage Credit source: Instagram
पंकज कपूर (Pankaj Kapoor) की पहली नेशनल अवार्ड विनिंग फिल्म थी ‘राख’ जिसमें आमिर खान ने एक हीरो के तौर पर काम किया था. इसके बाद उन्हें फिल्म ‘रोजा’ में बेहतरीन अभिनय के लिए ढेरों तारीफें मिलीं.

पंकज कपूर (Pankaj Kapoor) को आज एक इंस्टीट्यूशन के तौर पर लोग मानते हैं. हो भी क्यों न! आखिर वो भारत के एक जाने-माने नाटककार और टीवी और फिल्म अभिनेता जो हैं. ऐसा शायद ही कोई होगा जिन्होंने उन्हें टीवी पर ‘ऑफिस-ऑफिस’ (Office Office) जैसे फेमस कॉमेडी सीरियल में उन्हें न देखा हो. उन्होंने मुसद्दी लाल बनकर लोगों को इतना हंसाया है जिसकी जितनी तारीफ की जाए, वो कम ही होगी. आज उन्हें लोग घर-घर में जानते हैं. पंकज कपूर का जन्म 29 मई 1961 को पंजाबी परिवार में पंजाब के लुधियाना शहर में हुआ था. आज उनका जन्मदिन है. आइए उनके जन्मदिन (Birthday) पर उनके जीवन की कुछ अनसुनी कहानियों के बारे में जानते हैं.
पंकज कपूर ने NSD से सीखी अभिनय की बारीकियां
पंकज कपूर को एक्टिंग में बहुत रूचि थी जिसकी वजह से उन्होंने साल 1973 में अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई को खत्म करते ही दिल्ली स्थित नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा, जिसे शॉर्ट में NSD के नाम से जाना जाता है, में दाखिला ले लिया था. यहां पंकज कपूर ने अभिनय की बारीकियां सीखीं और गजब की बात ये भी रही कि प्रशिक्षण के दौरान ही उन्हें बेस्ट एक्टर के अवार्ड से भी नवाजा गया था.
पंकज कपूर की शादी एक्ट्रेस और डांसर नीलिमा अजीम से हुई थी. हालांकि, दोनों की शादी कुछ ज्यादा अच्छी चल नहीं पाई और दोनों अलग हो गए. दोनों के दो बेटे हैं. पहले इस वक्त बॉलीवुड के फेमस युवा अभिनेता शाहिद कपूर हैं और दूसरे हैं रुहान कपूर. नीलिमा अजीम से रिश्ता टूटने के बाद उन्होंने सुप्रिया पाठक से दूसरी शादी कर ली.
पंकज कपूर ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत 80 के दशक में आए सीरियल ‘करमचंद’ से की थी. उन्होंने ऑस्कर अवार्ड विनर रिचर्ड अटेनबरो के डायरेक्शन में 1982 में बनी फिल्म ‘गांधी’ में प्यारेलाल की भूमिका निभाई थी. जबकि इसके हिंदी वर्जन में गांधी का किरदार निभा रहे बेन किंग्सले की डबिंग करने का मौका उन्हें मिला. उन्होंने श्याम बेनेगल की फिल्म ‘आरोहण’ से अपना फिल्मी सफर शुरू किया. इसके बाद उन्होंने आर्ट फिल्म ‘मंदी’ की. फिर ‘जाने भी दो यारों’, ‘हजैर’ और ‘खामोश’ जैसी फिल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवाया.ये भी पढ़ें

‘राख’ के लिए मिला था पंकज कपूर को नेशनल अवार्ड
पंकज कपूर की पहली नेशनल अवार्ड विनिंग फिल्म थी ‘राख’ जिसमें आमिर खान ने एक हीरो के तौर पर काम किया था. इसके बाद उन्हें फिल्म ‘रोजा’ में बेहतरीन अभिनय के लिए ढेरों तारीफें मिलीं. साल 1991 में पंकज कपूर ने ‘डॉक्टर की मौत’ नामक फिल्म की जिसके लिए उन्हें नेशनल अवार्ड के स्पेशल जूरी अवार्ड से भी नवाजा गया. हिंदी सिनेमा में पंकज कपूर ने फिल्म ‘मौसम’ से डायरेक्शन में कदम रखा. इस फिल्म में उनके बेटे शाहिद कपूर और सोनम कपूर नजर आए थे. ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फिसड्डी साबित हुई थी.

Table of Contents

Leave a Comment